रक्षा बंधन क्या है ? रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है ? रक्षा बंधन की जानकारी

0
153

रक्षा बंधन हिन्दू धर्म का एक महत्वपूर्ण त्यौहार है जो हर साल भारत देश के सभी राज्यों में मनाया जाता है. यह त्यौहार त्याग,प्यार और समर्पण की मिसाल देता है. यह भाई और बहन के प्यार का सबसे बड़ा प्रतीक है. सभी भाई बहन को रक्षा बंधन की हार्दिक शुभकामनाये. हर साल श्रावण मास के पूर्णिमा के दिन ये त्यौहार मनाया जाता है जो हर साल अगस्त में आता है. आज के इस लेख में मै आपके साथ रक्षा बंधन क्या है,क्यों माने जाता है और कैसे मनाया जाता है. उम्मीद करता हूँ की इस आपको रक्षा बंधन के त्यौहार के बारे में अधिक जानने में मदद मिलेगी.

रक्षा बंधन का इस त्यौहार को लोग राखी भी कहते है.आज इस त्यौहार के लिए मै आपके साथ Happy Raksha Bandhan की पूरी जानकारी शेयर कर रहा हु जिससे आप ये जान पाएंगे की What is Raksha Bandhan ? Why Raksha Bandhan Celebrated and What is importance of Raksha Bandhan festival in Hindi.

रक्षा बंधन की जानकारी

रक्षा बंधन क्या है?

रक्षा बंधन हिन्दू धर्म का एक प्रसिद्ध त्यौहार है. इस त्यौहार को भाई और बहन के स्नेह और प्यार का प्रतिक माना गया है. इस त्यौहार को मनाने से भाई और बहन का स्नेह दृढ रूप से मजबूत होता है और एक दूसरे के प्रति अपने कर्तव्यों को निभाने की शक्ति मिलती है. इस त्यौहार में बहन अपने भाई के कलाई पर राखी बांधती है और भाई अपनी ख़ुशी से बहन को उपहार देता है और साथ ही रक्षा करने का वचन देता है.

रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है ?

आज के लेख में आप जानेंगे कि रक्षा बंधन क्यों मनाया जाता है. रक्षा बंधन के सन्दर्भ में बहुत सारी कहानी है जिसे जानके आप समझ सकते है की राखी क्यों मनाया जाता है.

Rani karnavati:

मध्यकालीन युग में राजपूत और मुस्लिम के बीच युद्ध चल रहा था. रानी कर्णावती गुजरात के सुल्तान बहादुर शाह से अपनी प्रजा को बचने के लिए सम्राट हुमायूँ से विनती की थी.रानी ने हुमायूँ को राखी भेजी थी और उनसे रक्षा के लिए निवेदन किया था. रानी के द्वारा राखी पाकर सम्राट हुमायूँ ने उन्हें अपना बहन माना और उन्हें सुरक्षा प्रदान किया था. ये बात राखी से जुड़ी हुई है और इस कारन को लोग रक्षा बंधन मनाने का सबसे बड़ा कारण मानते है.

Mahabharat me Raksha Bandhan:

महाभारत में भी रक्षा बनादाँ का जिक्र है जब कृष्ण के हाथ की ऊँगली चक्कर से कट गया था तब उस समय द्रौपदी ने अपनी साडी का किनारा फरकर बंधी थी और श्री कृष्ण ने वचन दिया की वो हमे अह उनकी रक्षा करेंगे. द्रौपदी के चीर हरण के समय श्री कृष्ण ने आकर बचाया था और वचन निभाए.

 

रक्षा बंधन का महत्व (Importance of Rakhi Festival)

हर साल भाई बहन को इस दिन का इंतज़ार रहता है और इस ख़ास दिन पर बहन अपने भाई के कलाई पर रक्षा बंधन बांधती है और इसमें मौके पर भाई अपने समर्थता के अनुसार बहन को भेंट देता है साथ ही जीवन भर रक्षा करने का वचन देता है.

भाई बहन के प्यार की सबसे बड़ी निशानी के रूप में हर साल रक्षा बंधन(राखी) का त्यौहार मनाया जाता है.

2018 में रक्षा बंधन कब मनाया जायेगा ?

रक्षा बंधन हर साल श्रावण मास के पूर्णिमा को धूम धाम से मनाया जाता है.इस साल यानि की 2018 में भाई बहन के प्यारे रिश्ते को मजबूत करने वाला ये त्यौहार 26 अगस्त 2018 को मनाया जायेगा.

 

रक्षा बंधन कैसे मनाया जाता है ?

रक्षा बंधन भाई बहन के स्नेह का त्यौहार है. इस दिन घर में ख़ुशी का माहोल होता है . स्नान करने के तट पश्चात पूजा की थाली सजाया जाता है. अब बहन अपने भाई के माथे पर तिलक लगाती है और कलाई पर राखी बांधती है साथ ही उसे अपने स्नेह देती है.

राखी बन्धन के बाद भाई अपने बहा को एक अच्छा उपहार देता है और साथ ही जीवन भर उसकी रक्षा करने का वादा करता है.

उत्तर छोड़ दें

Please enter your comment!
Please enter your name here