हिंदी दिवस का महत्व | हिंदी दिवस कब मनाया जाता है

0
29

हिंदी दिवस एक वार्षिक तिथि जो हर साल भारत देश में मनाया जाता है. प्रत्येक साल १४ सितम्बर को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है. संविधान में १४ सेप्टेम्बर १९४९ को यह निर्णय किया था कि हिंदी भारत देश की राजभाषा होगी. इंसान के जीवन में भाषा का सबसे बड़ा महत्व होता है. दुनिया के सभी देशों की अपनी एक मूल भाषा है वैसे ही भारत देश की मूल भाषा या मातृभाषा हिंदी है. भारत देश में हिंदी भाषा को आधिकारिक रूप से अपनाया गया है.यह बात जान शायद आपको हैरानी हो कि हिंदी हमारी राजभाषा है |  हिंदी को आज भी हमारे देश मे राष्ट्रीय भाषा का दर्जा नही मिल पाया है |

 

हिंदी दिवस के दिन कई सरे प्रोग्राम होते है साथ ही स्कूल और कॉलेज में बहुत उत्साह के साथ ये दिन माने जाता है. स्कूल और कॉलेज में हिंदी से जुड़े वाद-विवाद,हिंदी कवितायें,लेखन, संस्कृति कार्यक्रम और अन्य प्रोग्राम का आयोजन किया जाता है. पूरी दुनिया में हिंदी का प्रसार तेजी से हो रहा है.दुनिया में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा में से एक भाषा हमारी हिंदी है.

हिंदी दिवस का महत्व

इंग्लिश का ज्ञान या फिर अन्य भाषा का ज्ञान होना चाहिए लेकिन हमें अपनी मातृ भाषा (राजभाषा) को कभी नहीं भूलना चाहिए.  मातृभाषा हमारी संस्कृति की पहचान है और उससे हमें और आगे बढ़ाना चाहिए. दुनिया में सबसे ज्यादा बोले जानी वाली चौथी भाषा हिंदी है जिससे सबसे ज्यादा बोलने वाले लोग भारत देश के है. भारत देश के अलावा और अन्य कई देअह है जहाँ पर हिंदी भाषा बोली जाती है जैसे की पाकिस्तान,मॉरीशस, फिजी, ग्वाना

 

आज हर जगह नौकरी पाने के लिए इंग्लिश भाषा का ज्ञान होना खोजा जाता है लेकिन हमें कभी भी अपने राजभाषा को नहीं भूलना चाहिए. आज कोई इंटरव्यू देने जाता है तो उसे इंग्लिश बोलने आता है कि नहीं इस पर ज्यादा ध्यान दिया जाता है लेकिन इस बात पर नहीं किसी को कितनी जानकारी है ज्ञान है और ऐसे में इंग्लिश को वरीयता देना क्या सही है.प्रत्येक भारत वासी को हिंदी भाषा को महत्व देना चाहिए और इसका सम्मान करना चाहिए. आज देश के हर व्यक्ति को एकजुट होकर हिंदी भाषा को राष्ट्र भाषा बनाने की और एक नहीं पहचान दिलाने की कोशिश करनी चाहिए. हिंदी भाषा हमारी पहचान है और इससे हमेशा आगे बढ़ने और सम्मान दिलाने में हमें तत्पर रहना चाहिए.

 

Hindi Divas Shayari

 

[1]

इस देश की कण कण में है बसी

मेरी माँ की बोली है इसमें बसी

मेरा पहचान है हिंदी

मेरा  मान है हिंदी

हमारी शान है हिंदी

[2]

हर देश का सामान है उसकी मातृभाषा

हमारी शान है हिंदी भाषा

[3]

हिंदी का विकास देश का विकास है.

[4]

देश की क्या है शान

हिंदी है मेरी जान

[5]

जन जन की भाषा है हिंदी

देश किसी की आशा है हिन्दी

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here