मोबाइल बैटरी को फटने से कैसे बचाएं

0
270

आज के समय में मोबाइल की बैटरी का फटना आम बात हो गयी है. ऐसा बहुत सारे मामले सामने आ चुके है जिसे देखने के बाद ये तो पता चलता है कि ये कितना खरनाक हो सकता है. ऐसी घटनाओं के बाद भी लोग फ़ोन की बैटरी को लेकर बिलकुल भी सावधानी नहीं बरती है.अभी जितना ऐसा मामला है ज्यादा तर स्मर्टफ़ोन में देखा गया है लेकिन ऐसे नहीं कि फ़ीचर फ़ोन सुरक्षित है कई फ़ीचर फ़ोन की बैटरी भी ओवर चार्जिंग होने की वजह से फट चुकी है.

मोबाइल बैटरी को फटने से कैसे बचाएं

मोबाइल चाहे किसी भी कंपनी का क्यों न हो उसमें बैटरी का इस्तेमाल तो किया ही जाता ये आप सभी अच्छे से जानते है.हमारे फ़ोन की जो बैटरी होती है वो लिथियम आयन बैटरी होती है. मोबाइल बैटरी के फटने का सबसे मुख्य कारण ओवरहीट होने की वजह से होती है. कई बार हम फ़ोन के साथ ओर्जिनल चार्जर का इस्तेमाल नहीं करते है चार्ज करने के लिए या फिर बैटरी ओरिजिनल नहीं उसे करते है तो ये सभी ओवरहीट का कारण बन जाता है जिससे बैटरी फटने की सम्भावना ज्यादा होती है.

मोबाइल फोन फटने के कारण

बैटरी के ज्यादा गर्म होने से(लगातार चार्ज करने से)

कई बार हम फ़ोन को रात को चार्ज में लगा कर सो जाते है ऐसे में फ़ोन जरुरत से ज्यादा चार्ज होता रहता है जिससे उसकी बैटरी बहुत ज्यादा गरम हो जाती है और फटने की सम्भावन बनती है. लिथियम बैटरी जब ज्यादा हीट होती है तो ब्लास्ट हो जाती है.

गलत चार्जर का इस्तेमाल करने से

अक्सर फ़ोन चार्ज करने के लिए हम किसी भी फ़ोन के चार्जर का इस्तेमाल कर लेते है लेकिन ये बिलकुल गलत है क्यों की हर चार्जर को उसके  फ़ोन की बैटरी के अनुसार इलेक्ट्रिक सप्लाई करने के लिए कंपनी द्वारा टेस्ट कर के दिया गया होता है. दूसरे फ़ोन के चार्जर से फ़ोन चार्ज करने दे फ़ोन ओवरहैत हो जाता है और कई बार बैस्ट हो जाता है.

लोकल बैटरी का इस्तेमाल करने से

कई बार हम फोन का बैटरी बदलते है तो ऐसे में लोकल बैटरी लगा लेते है लेकिन ऐसे  में फ़ोन चार्ज ये बैटरी जल्दी चार्ज हो जाती और हीट भी जिससे ब्लास्ट देखने को मिलता है.

लीथियम ऑयन बैटरी

ज्यादा तर फ़ोन में लिथियम बैटरी का उपयोग होता है ऐसे में आपको पता हो कि लिथियम बैटरी जब ज्यादा हीट हो जाती है तो शार्ट सर्किट हो जाता है और ये भी फ़ोन के फटने का मुख्य कारन में से एक है.

ऊंचाई से गिरने की वजह से

कई बार फ़ोन ज्यादा उचाई से छूट जाता है या गलती से गी जाता है ऐसे में फ़ोन की सर्किट ख़राब हो जाती शार्ट सर्किट के कारण और फ़ोन ब्लास्ट का भी खतरा हो जाता है. फ़ोन का गिरना भी एक कारण कभी कभी बन सकता है.

इस तरह रखें अपने मोबाइल फोन की बैटरी को सुरक्षित

  • किसी भी मोबाइल फ़ोन के फटने का सबसे मुख्य कारण ओवरचार्जिंग होता है जिअसे की ज्यादा तर मामलो में हुआ भी है.अक्सर हम अपने फ़ोन को चार्ज में लगा कर छोड़ देते है या फिर रात को लगा कर सो जाते है ऐसे में फ़ोन लगातार चार्ज होते होते ओवरहीट हो जाता है और बैटरी भी ओवरहीट हो जाती है और इसके फटने की सम्भावना बढ़ जाती है. इसलिए फ़ोन को ओवरचार्ज न करे.
  • फ़ोन को जब आप चार्ज में लगाये तो उस समय फ़ोन से बात न करे या फिर इंटरनेट का इस्तेमाल भी न करे ऐसा करने से भी आपका फ़ोन गरम हो जाता है और फटने का चान्सेस होते है.
  • चार्ज करते समय फ़ोन को किसी ऐसी वस्तु पर न रखें जिससे की वो ज्यादा गरम हो जाये.
  • सबसे जरूरी की बात ये भी है की आप अपने फ़ोन को किसी भी फ़ोन के चार्जर लेकर चार्ज न करे क्योंकि हर फ़ोन में दी गयी बैटरी को जितनी इलेक्ट्रिक पावर की सप्लाई की जरुरत होती है उस हिसाब से कंपनी चार्ज को टेस्ट कर के देती है.उसके ओरिजिनल चार्जर से चार्ज करने से कभी दिक्कत नहीं आती है.इसलिए आप हमेशा अपने फ़ोन के चार्ज से ही फ़ोन चार्ज करे दूसरे किसी फ़ोन के चार्जर का इस्तेमाल न करे इससे भी फ़ोन ज्यादा गरम होता है और फटने का डर रहता है.
  • फ़ोन को हमेशा सही तरीके से सही जगह पर ही रखे क्यों करी बार फ़ोन के ज्यादा उचाई से गिरने की वजह से फ़ोन में या फिर बैटरी जो लिथियम आयन की बनी होती उसमे शार्ट सर्किट हो जाता है और फ़ोन ब्लास्ट हो जाती है.

उत्तर छोड़ दें

Please enter your comment!
Please enter your name here